अब 13 अप्रैल को रिलीज होगी बहुप्रतीक्ष्रित भोजपुरी फिल्‍म ‘डमरू’

भोजपुरी की बहुचर्चित फिल्‍म ‘डमरू’ का रिलीज डेट एक्‍सटेंड कर दिया गया है। इसे कल यानी 6 अप्रैल को रिलीज होनी थी, मगर ऐन वक्‍त पर कुछ टेकनिकल कारणों से इसके रिलीज की तारीख बढ़ाकर 13 अप्रैल कर दिया गया है। इस बारे में फिल्‍म के निर्माता प्रदीप कुमार शर्मा ने कहा कि फिल्‍म काफी बड़ी और अच्‍छी है। इसलिए हम कोई रिस्‍क नहीं ले सकते। फिलहाल कुछ समस्‍याएं थी,जिसे अब हमने दूर कर लिया है। और फाइनली हम किसी फिल्‍म ‘डमरू’ को अगले वीकेंड में 13 अप्रैल से लेकर आयेंगे। भोजपुरी के दर्शकों को इस फिल्‍म का बेसब्री से इंताजर है, मगर अब ज्‍यादा इंतजार भी नहीं करना होगा। वैसे अच्‍छी फिल्‍मों के लिए इंतजार भी एक रोमांच देता है।

उन्‍होंने कहा कि एक अलग ही तर‍ह के कंसेप्‍ट पर बनी फिल्‍म ‘डमरू’ की गूंज भोजपुरी सिने प्रेमियों को गुदगुदायेगी,हंसायेगी और मनोरंजन के हर पहलुओं से रूबरू करायेगी। इस फिल्‍म का निर्माण में काफी भव्‍य तरीके से किया गया है। इसके निर्देशक रजनीश मिश्रा हैं, जो पहले भी भोजपुरी सिनेमा में लीक से हट कर फिल्‍में बना चुके हैं। हाल ही में वीनस म्‍यूजिक द्वारा जारी फिल्‍म ‘डमरू’ के ट्रेलर को दर्शकों ने पसंद किया है। फिल्‍म में खेसारीलाल यादव और याशिका कपूर की फ्रेश जोड़ी लोगों को पसंद भी आ रही। फिल्‍म के ट्रेलर में उनकी केमेस्‍ट्री को बहुत सराहना मिल रही है। साथ ही अवधेश मिश्रा अपने अनोखे अंदाज में लोगों को भा रहे हैं।

इस फिल्‍म ने रिलीज से पहले ही लोकप्रियता के कई कीर्तिमान स्‍थापित किये, जिस वजह दर्शकों के अलावा पूरी भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री को इस फिल्‍म का इंतजार है। फिल्‍म ’डमरू’ के बारे में यह भी दावा किया गया है कि यह भोजपुरी सिनेमा पर लगने वाले अश्‍लीलता के दाग से मुक्ति दिलायेगी और भोजपुरी सिनेमा से दूर हुए भोजपुरी दर्शकों की धारणा को पवित्र करने के लिए गंगाजल का काम करेगी।

ट्रेलर लिंक : https://youtu.be/h6ezbK3tTgo

फिल्‍म : डमरू (भोजपुरी)

बैनर : बाबा मोशन पिक्‍चर्स

निर्देशक : रजनीश मिश्रा

निर्माता : प्रदीप के शर्मा

पीआरओ : रंजन सिन्‍हा

म्‍यूजिक : रजनीश मिश्रा

लिरिक्‍स : प्‍यारे लाल यादव (कविजी), पवन पांडेय, अशोक कुमार दीप, श्‍याम देहाती

कास्‍ट : खेसारीलाल यादव, अवधेश मिश्रा, पदम सिंह, याशिका कपूर, आनंद मोहन, देव सिंह, रोहित सिंह मटरू, सुबोध सेठ, डॉ अर्चना सिंह

Author: Anupam Uphar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

43 − = 34