विशाखापट्टनम दुनिया के पहले मेडिकल डिवाइस स्पेशल जोन का सीएम नायडू और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे ने किया उद्घाटन

चिकित्सीय उपकरण बनाने वाली कंपनियां बिहार में निवेश करेंगी- केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने दिया न्योता

पटना, 13 दिसम्बर 2018

जल्दी ही चिकित्सकीय उपकरण बनाने वाली देश विदेश की कंपनियां बिहार में पूंजी निवेश करेगी। चौथे डब्ल्यूएचओ मेडिकल डिवाइस फॉर फोरम के 3 दिवसीय समागम में देश दुनिया से आए 1200 कंपनियों के प्रतिनिधियों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने अपने संबोधन में इन सबको बिहार में निवेश का न्योता दिया जिसपर कंपनियों के प्रतिनिधियों ने सकारात्मक कदम जल्दी उठाने का आश्वासन दिया।

विशाखापट्टनम में डिवाइस स्पेशल जोन की उद्घाटन के बाद चौथे डब्ल्यूएचओ मेडिकल डिवाइस फोरम 2018 को गुरुवार को संबोधित कर रहे थे। इसका उद्घाटन आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने संयुक्त रूप से आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में किया। 270 एकड़ में फैले इस जोन का श्री नायडू और श्री चौबे ने एकसाथ 4 घंटे से ज्यादा समय तक गहनता से भ्रमण और मुआयना किया।इस ज़ोन के पूर्ण कार्यशील होने के बाद मेडिकल डिवाइस के क्षेत्र में उद्योग विकसित होंगे और इनोवेशन-इनक्यूबेशन आदि को बल मिलेगा।
फोरम को संबोधित करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे ने कहा कि बिहार भी मेडिकल हब है। पटना सहित अन्य जिलों में मेडिकल से संबंधित कारोबार बहुत अधिक होता है। मेडिकल डिवाइस के क्षेत्र में भी बिहार अग्रणी भूमिका का निर्वहन कर सकता है। उन्होंने देश दुनिया से आए कंपनी प्रतिनिधियों से पटना में भी निवेश करने का न्योता दिया तथा इसके लिए हर संभव मदद का भरोसा भी दिलाया।
केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि चिकित्सीय उपकरण उद्योग के क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं। मौजूदा समय में भारत अपने चिकित्सीय उपकरणों के लिए अन्य देशों पर निर्भर है। भारत में दुनिया के पहले मेडिकल डिवाइस जोन बनने से निश्चित तौर पर चिकित्सीय उपकरण के बनाने के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव आएगा। रोजगार के नए अवसर सृजन होंगे। भारत में चीन और अमेरिका जैसे देशों के साथ इस क्षेत्र में कदमताल कर सकेगा।उन्होंने कहा कि यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्टैंड अप इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, मेक इन इंडिया जैसे कार्यक्रमों के सहारे ही आज ऐसे जोन विकसित हो रहे है।
श्री चौबे ने आयुष्मान भारत का जिक्र करते हुए कहा कि दुनिया में अपनी तरह का एक अनूठा प्रयोग है। बड़ी संख्या में इसका लाभ भारत के लोगों को मिलने लगा है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के “सबका साथ सबका विकास” वाली सोच व नीति से भी उपस्थित अतिथियों को अवगत कराया।

Author: Anupam Uphar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

43 − 39 =