आम आदमी पार्टी आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में राज्य के भीतर किसी भी राजनीतिक पार्टी से समझौता नहीं करेगी

पटना : आम आदमी पार्टी आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में राज्य के भीतर किसी भी राजनीतिक पार्टी से समझौता नहीं करेगी. पार्टी अपने कार्यकर्ताओं एवं राज्य की जनता के बलबूते अकेले चुनाव लड़ेगी. उक्त बातें पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अमर प्रसाद यादव ने कही.
उन्होंने कहा कि यह बात सही है कि आगामी चुनावों में उतरने के लिये राज्य में पार्टी के संगठन-विस्तार पर बहुत काम करने की ज़रूरत है. चुनाव आने के समय तक पार्टी जितनी सीटों पर लड़ने में खुद को सक्षम पाएगी, उतनी ही सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी, किंतु अन्य दलों से समझौता या गठबंधन कर चुनाव नहीं लड़ेगी.
श्री यादव ने कहा कि आम आदमी पार्टी के पास पैसे भले ही न हों, पर हमारे पास साफ-सुथरा चरित्र है. ईमानदार चरित्र ही हमारे राष्ट्रीय संयोजक एवं पार्टी की एक मात्र देन है जो विरासत के रूप में सभी कार्यकर्ताओं को प्राप्त है. उन्होंने कहा कि पार्टी जीते या हारे, चरित्र पर आँच कभी आने न देंगे.
उन्होंने भाजपा और राजद पर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ नेताओं द्वारा जान-बूझकर ऐसी खबरें फैलाई जा रही हैं कि आम आदमी पार्टी और राजद में कोई खिचड़ी पक रही है. यह एक कोरा बकवास है. आम आदमी पार्टी के चरित्र को दागदार करने के उद्देश्य से भाजपा यह खबर फैला रही है एवं राजद के सिर पर चारित्रिक चाँद लग जाए, इसलिए राजद के कुछ नेता भी इसमें रूचि ले रहे हैं. उन्होंने बताया कि अगर किसी पार्टी के नेता केजरीवाल जी से मिलने का समय माँगें, और उन्हें समय मिल जाए एवं केजरीवाल उनकी बातें सुन लें, इसका यह कदापि मतलब नहीं कि भविष्य में कोई राजनीतिक समझौता होने जा रहा है.
विदित हो कि मंगलवार को एक समाचार-पत्र (जनसत्ता) ने राजद प्रवक्ता मनोज झा एवं अन्य सूत्रों के हवाले से यह खबर चलाई थी कि दिल्ली में राजद नेता एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की आप संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से तीन बार मुलाकात हो चुकी है एवं आम आदमी पार्टी ने बिहार में नया दोस्त ढूँढ लिया है. पार्टी की बिहार इकाई ने इसका खंडन करते हुए राजद के साथ किसी भी प्रकार के तालमेल से इनकार किया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *