मोतिहारी की जनता से किया वादा भूल गए प्रधानमंत्री : मुकेश सहनी

वादे पूरे नहीं होने पर प्रधानमंत्री की रैली से पहले निषाद विकास संघ निकालेगी महारैली : सन ऑफ मल्‍लाह

अक्‍टूबर में अपनी पार्टी की घोषणा करेंगे मुकेश सहनी, सभी 40 सीटों पर उतारेंगे उम्‍मीदवार

चीनी बिना चाय मोटरसाइकिल महारैली में सन ऑफ मल्लाह ने सरकार पर साधा निशाना

मोतिहारी, 08 अप्रैल  2018: मोतिहारी में आज निषाद विकास संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह श्री मुकेश सहनी के आह्वान पर हजारों की संख्या में निषादों ने चीनी बिना चाय मोटरसाइकिल यात्रा में भाग लेकर अपनी ताकत दिखाई. रविवार को मोतिहारी में करीब 25 हजार से भी ज्यादा बाइक के साथ एक महारैली निकालकर सन ऑफ़ मल्लाह ने बिहार में अपने प्रभाव का एहसास करवाया. बलवां कोठी चीनी मील मैदान से मोतिहारी राजेंद्र नगर भवन(टाउन हॉल) तक मोटरसाइकिल यात्रा निकाली गई. सन ऑफ़ मल्लाह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को चुनाव के समय मोतिहारी की जनता तथा निषाद समाज से किया गया वादा और उनका फर्ज याद दिलवाया.

सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री महोदय ने चुनाव के समय मोतिहारी की जनता से वादा किया था कि अगर उनकी सरकार बनी तो सौ दिन के अंदर मोतिहारी में चीनी मिल चालू करवा देंगे. साथ ही उन्होंने इसी चीनी मिल की चीनी से बनी चाय पीने का वादा भी मोतिहारी की जनता से किया था. मगर चार साल हो जाने के बाद भी चीनी मिल चालू नहीं करवाया गया. इसलिए मोतिहारी और बिहार के निषाद समाज ने प्रधानमंत्री को बिना चीनी की चाय पिलाने के लिए अपनी अभूतपूर्व एकजुटता दिखलाई.

पत्रकारों के सवाल के जबाब में श्री सहनी ने कहा कि 2015 में चुनाव के समय मोदी जी ने बड़े आत्मविश्वास के साथ निषाद समाज को आरक्षण देने का वादा किया था. उन्होंने कहा था कि निषाद समाज की तरक्की के लिए कार्य करना उनका फर्ज है. मगर आज वे अपना फर्ज और वादा दोनों भूल गए हैं. इसलिए निषाद विकास संघ के बैनर तले निषाद समाज ने आज चीनी बिना चाय मोटरसाइकिल महारैली निकालकर अपनी शक्ति का एहसास करवाकर प्रधानमंत्री महोदय को उनका वादा और फर्ज याद दिलवाया है.उन्होंने कहा कि अभी तो बिना चीनी की चाय पिलाई है, अगर जल्द-से-जल्द चुनाव के समय निषाद समाज से किए सारे वादे नहीं पुरे किए गए तो वादाखिलाफी करने वालों को पानी पिला देंगे. गठबंधन के सवाल पर सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि हमारी सामान विचारधारा तथा अतिपिछड़ा के लिए कार्य करने वाली किसी पार्टी के साथ हम गठबंधन कर सकते हैं.

इस अवसर पर सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में संघ के प्रतिनिधिमंडल द्वारा मोतिहारी के जिलाधिकारी को निषाद समाज के सर्वांगीण विकास एवं किसानों के हितार्थ निर्णय लेने के संबंध में माननीय प्रधानमंत्री महोदय के नाम का एक ज्ञापन भी सौंपा गया. सन ऑफ़ मल्लाह की मांगों में निषाद समाज की सभी उपजातियों को केंद्र सरकार की आरक्षण सूचि अनुसूचित जाति/जनजाति में जून-जुलाई 2018 तक शामिल करने की मांग प्रमुख है, इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर पर मतस्य मंत्रालय का गठन करना, राष्ट्रीय मछुआरा आयोग का गठन करना तथा किसानों के बकाया राजस्व का भुगतान करते हुए सभी बंद चीनी मीलों को अविलम्ब चालू की मांग भी सन ऑफ़ मल्लाह प्रमुखता से कर रहे हैं. साथ ही राज्य सरकार से उनकी मांग है कि निषाद आरक्षण के लिए आवश्यक एथ्नोग्रफिक रिपोर्ट एक हफ्ते के अन्दर केंद्र को भेजा जाए, साथ ही श्री सहनी की मांग है कि चूँकि वर्तमान में केंद्र और राज्य में  समान सरकार है इसलिए इसपर राजनीति बंद करते हुए बिहार को जल्द-से-जल्द विशेष राज्य का दर्जा एवं विशेष पॅकेज दिया जाए. मोटरसाइकिल यात्रा में निषाद समाज द्वारा थाली पीटकर विशेष राज्य का दर्जा तथा विशेष पॅकेज की मांग की गई. मुकेश सहनी ने यह भी ऐलान कर दिया है कि अगर निषाद समाज से किए सारे वादे पुरे नहीं किए गए तो बिहार में श्री नरेन्द्र मोदी की हर रैली से ठीक पहले निषाद विकास संघ द्वारा ऐसी ही विशाल यात्रा तथा महारैली आयोजित की जाएगी.

सन ऑफ़ मल्लाह का कहना है कि  पश्चिम बंगाल तथा दिल्ली जैसे राज्यों में निषाद समाज को आरक्षण प्राप्त है. देश में सबके लिए एक संविधान के अनुसार बिहार में भी निषादों को आरक्षण मिलना चाहिए. अगर किसी कारणवश 2018 की छमाही तक निषाद समाज को आरक्षण नहीं मिलता है तो अक्टूबर में पटना के गाँधी मैदान में विशाल जनसभा कर संगठन के द्वारा पार्टी के नाम की घोषणा करेंगे . साथ ही अगले लोकसभा चुनाव में बिहार में सभी 40 सीटों पर अपनी पार्टी के बैनर तले  उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा जाएगा.

ज्ञात हो कि विगत 10 मार्च को निषाद विकास संघ के तत्वाधान में बिहार के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर आरक्षण के लिए एकसाथ धरना-प्रदर्शन किया गया था. साथ ही 11 मार्च को सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में ऐसी ही एक विशाल मोटरसाइकिल महारैली बगल के जिले मुजफ्फरपुर में निकाली गई थी. उस धरना-प्रदर्शन तथा मोटरसाइकिल महारैली के बाद ही बिहार के राजनैतिक गलियारों में निषाद क्रांति के ही चर्चे देखने-सुनने को मिल रहे हैं. सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में बिहार का निषाद तेजी से गोलबंद हो रहा है. प्रदेश की राजनीति में उनका प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है. सन ऑफ़ मल्लाह के तेवर और निषादों की एकजुटता को देखकर लगता है कि बिहार का निषाद आर-पार की लड़ाई के मूड में है.

 इस अवसर पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री अशोक चौहान, प्रदेश महिलाध्यक्ष श्रीमती निर्मला सहनी, प्रदेश युवाध्यक्ष श्री गौतम बिंद, मोतिहारी जिलाध्यक्ष श्री मोतीलाल सहनी,  श्री लालबाबू सहनी,  नवीन कुमार निषाद, श्री सुरेश सहनी, श्री मनोज सहनी, श्री अजय सहनी, श्री रमाशंकर चौधरी, श्री सुरेन्द्र सहनी, श्री अशोक सहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री राजभूषण चौधरी, मुजफ्फरपुर जिलाध्यक्ष श्री बिरेन्द्र सहनी,  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री बैद्यनाथ सहनी तथा श्री ब्रह्मदेव चौधरी, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री छोटे सहनी सहित संघ के राज्यभर के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

− 2 = 1