झुग्गी झोपड़ी फुटपाथी दुकानदारों को लेकर मांझी ने दिखाए अपने कड़े तेवर:- हम

पटना 31 अगस्त 2018 (शुक्रवार)
हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (से)0 के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम माॅंझी ने झुग्गी झोपड़ी व फुट-पाथ से जुड़े लोगों की समस्याओं को लेकर प्रेस वार्ता अपने सरकारी आवास 12 स्टैंण्ड रोड पटना में आयोजित की।
प्रेस वार्ता में श्री माॅंझी ने कहा कि भारतीय संस्कृति में वर्षा के दिनों में मकड़ी के जाल को भी नहीं उजाड़ते हैं। पर बिहार के वरामान निर्दयी सरकार अनैतिक असंवैधानिक कार्य कर कल तक पटना को स्मार्ट सिटी बनाने के नाम पर झोपड़पट्टीयों को उजाड़ने का काम किया है। साथ ही साथ फुट-फाट दुकानदारों को भी बेरहमी के साथ हटा दिया है।
श्री माॅंझी ने कहा कि प्रेस वार्ता में कहा गया की झोपड़पट्टीयों एव फुटफाट दुकानदार किसी भी प्रस्तावित में अतिक्रमण कहीं नही है। ये लोग स्वरोजगार कर अपना बाल-बच्चों को परवरीस करते हैं। साथ ही साथ पटना शहर एवं अन्य जगहों में सफाई से लेकर छोटे-मोटे समानो की आपूर्ति एवं अनेक प्रकार की सेवा उपलब्ध कर शहर वासीयों का सेवा करते है। इस परिस्थिति में झोपड़पट्टीयों एवं फुटफाट को वर्षा के दिनों में उजाड़ कर संवैधानिक प्रावधान का उल्लंघन किया है। जिसमे स्पष्ट कहा गया है कि बिना वैकल्पिक व्यवस्था किये झोपड़पट्टीयों में रहने वाले एवं फुटफाट दुकान को नहीं हटाया जा सकता है।
श्री माॅंझी ने सरकार से माॅंग किया गया कि आज से अगामी 15 दिनों तक झोपड़पट्टीयों एवं फुटफाट दुकानदारों को उजाड़ने का काम नहीं करें एवं उनके पूर्नवास करने की व्यवस्था करें। यदि 15 दिनों के अन्दर सरकार व्यवस्था नहीं करती है तो गाॅंधी मैदान मे लाखो की संख्या में झोपड़पट्टीयों में रहने वाले एवं फुट फाट दुकानदारो को एकत्रीत कर राजभवन मार्च रोषपूर्ण प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। इस दौरान कोई भी अप्रीय घटना घटती है तो इसकी सारी जिम्मेवारी सरकार की होेगी।
एक प्रश्न के दौरान में श्री जीतन राम माॅंझी ने स्पष्ट किया की हमारी पार्टी सवर्णो के आरक्षण का विरोधी नहीं है। आरक्षण के विरोध करने वाले से अनुरोध किया कि आरक्षण का विरोध नहीं करे। क्योंकि हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (से0) अपने स्थापना काल से ही संवर्णो में भी गरीब लोगों को आरक्षण देने की वकालत करते रहें। हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (से0) यह भी माॅंग करती है कि भारत सरकार/बिहार सरकार 49.5 प्रतिशत आरक्षण के सीमा को बढ़ावे एवं उस बढ़े हुये प्रतिशत में से गरीब संवर्ण सहीत अन्य लोगों का आरक्षण का लाभ दे। इससे अभी आरक्षण का लाभ लेना है आरक्षण की कोई कटौती नहीं होगी और अन्य को आरक्षण का लाभ मिलेगा।
उपर अंकित व्यवस्था की कोई माॅंग नहीं की जा रही है क्योंकि दक्षिण भारत के राज्यों में तमिलनाडु प्रदेश सहित राज्यों में 70 प्रतिशत से अधिक का लाभ दिया जा रहा है।
इस प्रेस वार्ता में पूर्व मंत्री सह प्रदेश अध्यक्ष श्री वृशिण पटेल, सिस्टर डौरोथी फर्नांडीस, श्री राजेश पासवान, श्री दिलीप कुमार पटेल, पूर्व मंत्री डाॅ0 महाचन्द्र प्रसाद सिंह, पूर्व मंत्री डाॅ0 अनिल कुमार, श्री बी.एल.वैश्यन्त्री, श्री विजय यादव, श्री राम विलास प्रसाद, श्री रामचन्द्र राउत, श्री राजेश गुुप्ता, श्री अनिल कुमार रजक, श्री राजेश्वर पासवान, श्री अमरेन्द्र कुमार त्रिपाठी आदि नेता मौजुद थें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *