मांझी की दलित महादलित टोलो में बढ़ती कद से घबराई जदयू :-डॉ दानिश

पटना 3 अक्टूबर 2018 (बुधवार)
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ दानिश रिजवान ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि आजकल जदयू के नेताओं के द्वारा दलित और महादलित प्रेम ज्यादा दिखाई दे रहा है | लेकिन मैं बता दूं कि आज के समय में हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी की दलित महादलित टोलों में बढ़ती कद से जदयू घबरा गई है | दलित, महादलित परिवारों को अब तक नीतीश सरकार ने ना तो पुनर्वास की व्यवस्था किया और नहीं अभी तक गरीबों को 5 डिसमिल जमीन दिया गया | कैसे यह लोग दलित समाज के बीच जाकर वोट मांगेंगे | लोकसभा चुनाव में जनता के बीच में अपना तो कोई पकड़ है नहीं | तो दलित महादलित परिवार के वोट के सहारे ए अपनी चुनावी नैया पार लगाने के लिए उन पर डोरे डालने का काम कर रही है जदयू सरकार | लेकिन इसका कोई फायदा होने वाला नहीं |
डॉ दानिश ने कहा की जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की पार्टी आज अपने घटते जनाधार को देखकर घबरा गई है | आज इन्हीं कारणों से उनके नेताओं एवं प्रवक्ताओं को भी सत्ता जाने का दर्द सताने लगा है | आज लोगों के बीच यह चर्चा है कि जनता दल यू के पास कोई जनाधार है ही नहीं | वह अपनी चुनावी नैय्या को कैसे पार लगाएगी दल के नेताओं के बीच चिंता का विषय बना हुआ है।
डॉ दानिश रिजवान ने कहा एक बात तो स्पष्ट है कि लोकसभा चुनाव आने के पहले यदि जदयू संगठन का जनता के बीच अगर पकड़ सही होता तो प्रशांत किशोर (पी0के) का सहारा लेने की आवश्यकता क्यों पड़ती ? इससे यह साफ जाहिर है कि जदयू का संगठन का अब जनता के बीच कोई जनाधार नहीं | आने वाले समय में देश और राज्य में महागठबंधन की सरकार बनेगी | यह सरकार अब कुछ ही दिन की मेहमान है |

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

26 + = 31