सुपौल:नवांकुर कवियों को उभारना ही राष्ट्रीय कवि संगम का लक्ष्य

प्रमोद कुमार यादव जिला संवाददाता ,सुपौल-

राष्ट्रीय कवि संगम सुपौल इकाई के कार्यालय सह माहेश्वरी पोर्च ऑफ़ एजुकेशन में एक कवि गो ष्ठी का आयोजन हुआ ।
गोष्ठी की अध्यक्षता जिला इकाई के अध्यक्ष श्री नलिन जयसवाल ने की एवं संचालन जिला इकाई के महासचिव श्री रवि भूषण ने किया। अध्यक्षीय भाषण में श्री नलीन जायसवाल ने संगठन के बारे में बताते हुए कहा कि जब से इकाई का गठन हुआ है युवाओं में साहित्य के प्रति विशेष जागरूकता पैदा हुई है और वे बढ़ चढ़कर इन में हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम को और गति देने की आवश्यकता है और जरूरत है बच्चों में भी साहित्य के प्रति रुचि पैदा हो एवं विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में काव्य गोष्ठी आयोजित हो, जिसके लिए संगठन प्रयासरत है। एक संगठन की मजबूती के लिए कार्यालय,कार्यकर्ता, कार्यक्रम और कोष का होना अति आवश्यक है जिस पर हमें गौर करने की जरूरत है। उन्होंने आवाहन किया कि हर महीने एक गोष्ठी और किसी शैक्षणिक संस्थान में एक कवि सम्मेलन का आयोजन हो।

कार्यक्रम में आगे महासचिव रवि भूषण ने जानकारी दी कि आगामी 23 24 सितंबर को बेगूसराय में दिनकर जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय कवि संगम की बिहार इकाई के प्रांतीय अधिवेशन होगी। दो दिवसीय कार्यक्रम का 23 सितंबर को विणा वेंकट हॉल में उद्घाटन होगा और संध्या में राष्ट्रीय कवि संगम की बिहार इकाई का अखिल भारतीय कवि सम्मेलन होगा जिसका नाम “कलम उनकी जय बोल” रखा गया है जिसमें देशभर से राष्ट्रीय स्तर के नामचीन कवि शिरकत करेंगे और साथ ही 10 बाल काव्य द्वारा बाल कवि सम्मेलन का भी आयोजन होगा। “कलम उनकी जय बोल” अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में मुंबई से बाबा सत्यनारायण मौर्य,सोनीपत से डॉक्टर अशोक बत्रा,दिल्ली से हास्य कवि अनिल अग्रवंशी , पंजाब से दिनेश देवघरिया, देवघर से पंकज झा ,लखनऊ की प्रियंका राय ओम नंदनी, हाथरस से आंसू कवि अनिल बोहरे सहित बिहार के विभिन्न जिलों से 200 से अधिक कवि दिनकर की धरती को नमन करने पहुंच रहे हैं। जिला महासचिव रवि भूषण ने कहा कि इस द्वितीय प्रांतीय अधिवेशन की अध्यक्षता राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगदीश मित्तल जी करेंगे।
कार्यक्रम में महासचिव रवि भूषण ने जानकारी दी कि इस गौरवशाली आयोजन में सुपौल जिला से भी 20 कवि इसमें भाग लेंगे और दिनकर की धरती को नमन करेंगे, साथ में यह भी जानकारी दी कि उक्त कार्यक्रम में वार्षिक स्मारिका का “काव्यार्चन” का विमोचन होगा जिसमें सुपौल के भी रचनाकारों की रचना प्रकाशित होंगी।
राष्ट्रीय कवि संगम सुपौल इकाई के मार्गदर्शक मुख्य अतिथि श्री अरविंद ठाकुर ने अपने उद्बोधन में कहा कि राष्ट्रीय कवि संगम सुपौल इकाई का प्रयास बहुत ही सराहनीय है समाज को बढ़-चढ़कर हर तरह का सहयोग करना चाहिए नए-नए नवांकुर कवियों को उभारना ही राष्ट्रीय कवि संगम का लक्ष्य है।
गोष्ठी के दूसरे सत्र में काव्य पाठ का आयोजन किया गया काव्य पाठ में बाल कवियत्रि कुमारी रोशनी, साक्षी कुमारी, संध्या कुमारी, मुस्कान कुमारी, कवित्री बिंदु श्रीवास्तव ,सुधा सहाय, कल्याणी स्वरूपा,विमलानंद झा मोहन कुमार प्रशांत, लखन स्वामी, जितेश कुमार, पटना से आए गजलकारा कुमार राजा द्वारा काव्य पाठ किया गया। “संगठन के संरक्षक श्री संतोष प्रधान जी की गरिमामय उपस्थिति में सफल कार्यक्रम हुआ।” इसी अवसर पर संगठन का विस्तार करते हुए कवि सच्चिदानंद सौरव और विमलानंद झा जी को राष्ट्रीय कवि संगम के जिला उपाध्यक्ष के पद का दायित्व मुख्य अतिथि श्री अरविंद ठाकुर व संरक्षक श्री संतोष प्रधान द्वारा दिया गया।

इस अवसर पर श्रुति अग्रवाल ,पायल कुमारी, शनाया ,कृष्णा,बासु श्रीवास्तव ,कपिल कुमार ,नयन श्रीवास्तव ,आशीष,शाहबाज, दीपक कुमार सिंह, प्रफुल्ल, रमाकांत भारती , रामचंद्र यादव जी ,हरिओम आदित्य, राजकुमार जी, गौरी शंकर मंडल ,प्रशांत ठाकुर, अधिवक्ता वीरेंद्र कुमार झा जी, अमित तिवारी के अलावा इस अवसर पर अधिक संख्या में माहेश्वरी पोर्च ऑफ एजुकेशन के बच्चों और अध्यापकों ने शिरकत की और काव्य रस का आनंद लिया।

Author: Anupam Uphar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

78 − = 71