एसटीपीआई ने ब्रांड इंडिया बनाने और देश को विश्व के सबसे पसंदीदा आईटी गंतव्य के रूप में पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है

शनिवार, 2 फरवरी 2019
सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ़ इंडिया ; एसटीपीआई, इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के अन्तर्गत एक संगठन है जोकि पटना, बिहार में एक अतिरिक्त अत्याधुनिक इन्क्यूबेशन सुविधा स्थापित करने जा रहा है।
एसटीपीआई इन्क्यूबेशन केंद्र का शिलान्यास श्री नीतीश कुमार, माननीय मुख्यमंत्री, बिहार और श्री रविशंकर प्रसाद, माननीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी तथा विधि एवं न्याय मंत्री, भारत सरकार द्वारा श्री सुशील कुमार मोदी, माननीय उप-मुख्यमंत्री, बिहार श्री नन्द किशोर यादव, माननीय मंत्री, पथ निर्माण विभाग, बिहार सरकार श्री कपिलदेव कामत, माननीय मंत्रीए पंचायती राज विभाग, बिहार सरकार, श्री संजीव चौरसिया, माननीय विधान सभा सदस्य, दीघा, बिहार श्री अरुण कुमार सिन्हा, माननीय विधान सभा सदस्य, कुम्हरार, बिहार श्री नितिन नवीन, माननीय विधान सभा सदस्य, बांकीपुर, बिहार श्री रणविजय सिंह, माननीय विधान सभा सदस्य,बख्तियारपुर बिहार डॉ ओंकार राय, महानिदेशक, एसटीपीआई और श्री राहुल सिंह, सचिव, इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, बिहार सरकार, श्री देवेश त्यागी, वरिष्ठ निदेशक, एसटीपीआई और श्री मानस पांडा, निदेशक, एसटीपीआई की  गरिमामयी उपस्थिति में किया गया।
एसटीपीआई  देश से आईटी आईटी ई एस निर्यात को बढ़ावा देने के विशिष्ट उद्देश्य से एसटीपी और ईएचटीपी योजनाओं के तहत एकल खिड़की नियामक सेवाएं स्टार्ट-अप कंपनियों और युवा उद्यमियों के लिए प्लग एंड प्ले इन्क्यूबेशन सुविधाएं तथा अपतटीय आईटीध्आईटीईएस निर्यात के लिए हाई स्पीड डाटा संचार सेवाएं प्रदान करता है। एसटीपीआई उद्योग अनुकूल वातावरण में आईटी आईटी ई एस ई एस डीएम उद्योग को सफलतापूर्वक सांविधिक सेवाएं प्रदान कर रहा है और इसने कामकाज की अपनी उदार शैली से एक विशिष्ट पहचान बनाई है। सभी हितधारकों के साथ घनिष्ठतापूर्वक कार्य करके एसटीपीआई ने ब्रांड इंडिया बनाने और देश को विश्व के सबसे पसंदीदा आईटी गंतव्य के रूप में पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और यह तथ्य   एसटीपी इकाइयों के  निर्यात में उल्लेखनीय विकासए जोकि वर्ष 1992.93 के रु० 52 करोड़ की तुलना में वर्ष 2017.18 में बढ़कर रु० 3,75,988 करोड़ से अधिक हो गया, से सिद्ध होता है। एसटीपीआई ने देश के टीयर शहरों मे आईटी उद्योग को बढ़ावा देने में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आईटीध्आईटीईएस के समान और समग्र विकास के उद्देश्य के साथ स्थापित 58 एसटीपीआई केन्द्रों में से 50 केन्द्र टीयर शहरों मे स्थापित किए गए हैं।
वर्ष 2008 में एसटीपीआई.पटना केंद्र की स्थापना के समय से ही, एसटीपीआई बिहार राज्य में भी आईटी निर्यात को बढ़ावा देने में सहायक रहा है। बीते वर्षो में, एसटीपीआई केन्द्र ने राज्य को पसंदीदा आईटी गंतव्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और आईटी / आईटीईएस उद्योग के लिए एकल खिड़की एजेंसी के रूप में कार्य किया है। वर्ष 2017-18 के दौरान राज्य के संचयी निर्यात रु० 65 करोड़ रुपये में से रु० 302 करोड़ का आईटी निर्यात करके बिहार को देश के आईटी मानचित्र में लाने में सहायक हुआ है। एसटीपीआई के प्रयासों से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसरों तथा राज्य की अर्थव्यवस्था का समग्र विकास हुआ है।
वर्तमान में, एसटीपीआई.पटना केंद्र की 20,000 वर्ग फुट की इन्क्यूबेशन सुविधा पूरी तरह से आईटीध्आईटीईएसध्बीपीओ कंपनियों द्वारा अधिकृत है। आईटीध्आईटीईएस उद्योग और विशेष रूप से एसएमई और स्टार्ट-अप क्षेत्र की जरूरतों को पूरा करने के लिए इन्क्यूबेशन के बुनियादी ढांचे के विस्तार और सेवाओं के लिए एसटीपीआईए पटना में रू० 5310 करोड़ की अनुमानित लागत के साथ 1 लाख वर्ग फुट की अतिरिक्त अत्याधुनिक इन्क्यूबेशन सुविधा की स्थापना कर रहा है। राज्य सरकार ने बिल्डिंग निर्माण लागत में 50ः का अंशदान करने के लिए सहमति दी है। प्रस्तावित
बिल्डिंग में भूतल के साथ 6 तल होंगे जिसमें लगभग 1 लाख वर्ग मीटर का बिल्ट.अप स्पेस होगा। इसमें एसटीपीआई का कार्यालयए नेटवर्क ऑपरेशन सेंटरए को.लोकेशनध्मिनी डाटा सेंटर व सीओई होगा और बाकी जगह को इन्क्यूबेशन स्पेस और अन्य सहायता सुविधाओं के रूप में परिवर्तित कर दिया जाएगा।
एसटीपीआई की नई इन्क्यूबेशन सुविधा प्रौद्योगिकी कार्यान्वयनए इन्क्यूबेशन निर्माणए उद्योग सुगमताए उद्योगों और औद्योगिक मैंटरशिप से जुड़ने और एसटीपीआई इनक्यूबेट्सध्आईटीध्आईटीईएसध्ईएसडीएम स्टार्ट.अप्स के बीच ज्ञान के सहज प्रवाह की सुविधा और बुनियादी सुविधाओं के साझाकरण में एसटीपीआई के समृद्ध अनुभव का लाभ उठाने के लिए एक मजबूत मंच प्रदान करेगी।
यह सभी एकीकृत सुविधाएं एक इनोवेशन हब के रूप में कार्य करेंगीए जोकि इनोवेशनए आईपीआर सृजनए उत्पाद विकास को प्रोत्साहित करेगा और युवा तकनीकी उद्यमियों और स्टार्ट.अप्स को एक जीवंत पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करेगाए जिससे इस क्षेत्र से आईटी निर्यात को बढ़ावा मिलेगा।
एसटीपीआई के प्रयास सेए इस तरह के एक अभिनव मॉडल की शुरुआत राज्य में रोजगारए व्यवसाय विकास और उद्यमशीलता के लक्ष्य को प्राप्त करने में तेजी लाएगी।
एसटीपीआई-पटना इन्क्यूबेशन केंद्र से फायदे :
 क्षेत्र को पसंदीदा आईटी गंतव्यों में से एक बनाना और राज्य में आईटी / आईटीईएसध् ईएसडीएम इकाइयों को आकर्षित करना।
इस क्षेत्र में सॉफ्टवेयर और सेवाओं के निर्यात को बढ़ावा देकर देश के सकल राष्ट्रीय निर्यात में योगदान करना।
 सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ;एसटीपीद्ध और इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर प्रौद्योगिकी पार्क ;ईएचटीपीद्ध योजना के तहत सांविधिक सेवाएं प्रदान करना।
 अत्याधुनिक इन्क्यूबेशन सुविधाए उच्च गति डाटा संचार ;एचएसडीसीद्ध और अन्य मूल्य.वर्धित सेवाएं प्रदान करना।
 नवाचार को प्रोत्साहित करने के लिएए आईपीआर और उत्पाद विकास का सृजन करना।
 युवा तकनीकी उद्यमियों और स्टार्ट.अप के बीच एक निर्माता संस्कृति बनाने के लिए एक जीवंत पारिस्थितिकी प्रदान करना।
प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करना।

Author: Anupam Uphar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 3 =